27 C
New Delhi
Sunday 9 August 2020

कुलसुम की अंत्येष्टि में शामिल होने के लिए शरीफ परिवार को मिलेगा पैरोल

लाहौर— पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ, उनकी बेटी मरियम और दामाद कैप्टन (सेवानिवृत्त) मोहम्मद सफदर को बेगम कुलसुम के जनाजे की नमाज में शामिल होने के लिए पैरोल पर रिहा किया जाएगा।

 

जियो टीवी ने अपनी खबर में कहा कि नवाज शरीफ की पत्नी कुलसुम के जनाजे की नमाज से लेकर उन्हें दफनाए जाने तक तीनों पैरोल पर रिहा होंगे।

शरीफ परिवार के तीनों सदस्य इस समय रावलपिंडी की अदियाला जेल में सजा काट रहे हैं। उन्हें भ्रष्टाचार के एक मामले में इस साल जुलाई में एक जवाबदेही अदालत ने दोषी करार दिया था।

सूत्रों ने कहा कि पैरोल दिए जाने के लिए अनुरोध करने की जरूरत होती है।

कुलसुम लंबे समय से कैंसर से जूझ रही थीं। उनका मंगलवार को लंदन में निधन हो गया। उनकी उम्र 68 साल थी। सूत्रों के अनुसार शरीफ परिवार ने कुलसुम का पार्थिव शरीर पाकिस्तान लाने का फैसला किया है।
परिवार ने पुष्टि करते हुए कहा, ‘‘उन्हें पाकिस्तान में सुपुर्दे खाक किया जाएगा।’’

प्रधानमंत्री इमरान खान ने कुलसुम के निधन पर शोक जताते हुए कहा कि उनके परिवार को कानून के अनुरूप सभी सुविधाएं मुहैया करायी जाएंगी।

एक आधिकारिक बयान में कहा गया कि प्रधानमंत्री ने लंदन में पाकिस्तान के उच्चायोग को मृतक के परिवार को सभी जरूरी सुविधाएं मुहैया कराने में मदद करने का निर्देश दिया है।

Other Opinion Pieces

Hindu Yoga Alone Can Be Universalised

The Hindu philosophy follows a certain set of practices, as a result of which attempts of extrapolation outside that ambit are dubious at best