Categories
Entertainment

पूजा भट्ट ने गणेश को पूजने वालों को गर्भवती हथिनी की हत्या के लिए दोषी ठहराया

पूजा भट्ट ने इस जघन्य अपराध करने वाले और ऐसे ही अन्य कुकृत्य करने वालों के खिलाफ ऐसी बातें कीं जो उनके अज्ञान व उनकी अल्पबुद्धि के परिचायक हैं

बॉलीवुड एक्ट्रेस पूजा भट्ट का ट्वीट इस वक्त सुर्खियों में है, जिसमें उन्होंने एक तरफ भगवान गणेश की पूजा और दूसरी तरफ हाथी को मारने को लेकर कुछ बातें कही हैं। केरल में एक प्रेग्नेंट हथिनी को पटाखों से भरा अनानास खिलाने की वजह हुई उसकी मौत ने हर किसी को सन्न करके रख दिया है। देश के कई आम लोगों और सिलेब्रिटीज़ के साथ पूजा भट्ट ने भी अब ऐसे कई घिनौने काम को लेकर अपना गुस्सा जाहिर किया है। पूजा भट्ट की यह ट्वीट चर्चे में है क्योंकि अनेकों बार की तरह यह बयान फिर एक बार बॉलीवुड के सितारों के सतही चरित्र, अज्ञान और स्थूल बुद्धि को दर्शाती है।

पूजा भट्ट ने ट्वीट पर इस जघन्य अपराध करने वाले और ऐसे ही अन्य तरह के कर्म करने वाले लोगों के खिलाफ कुछ बातें कही हैं। उन्होंने ट्वीट में हिंदुओं पर अपना गुस्सा उतारा है जबकि मलप्पुरम, जहाँ यह घटना घटी है, मुसलमानों से भरा ज़िला है, जिसकी जानकारी पूरे भारत को है पर पूजा भट्ट को नहीं! दरअस्ल इतिहास कहता है कि भारत में मुसलमानों का आगमन केरल के मलप्पुरम से शुरू हुआ था। देश की सबसे प्राचीन मस्जिद इसके नज़दीक ही है: त्रिशूर जिले के कोडुन्गल्लुर तालुका के मेतला गाँव की चेरमान जुमा मस्जिद।

पूजा ने ट्वीट किया, “हम भगवान गणेश की पूजा करते हैं और हाथियों को मारते हैं और उनका दुरुपयोग करते हैं। हम भगवान हनुमान की आराधना करते हैं और बंदरों को जंजीरों में जकड़े हुए अजीबोगरीब करतब करते हुए देखकर खुश होते हैं। हम देवियों की पूजा करते हैं, लेकिन महिलाओं को गाली देते हैं, उन्हें पंगु बना देते हैं और कन्या भ्रूण हत्या भी करते हैं।”

खुद को ‘ईश्वर की अपनी धरती’ कहने वाले केरल राज्य में हुई इस गर्भवती हथनी की निर्मम हत्या को लेकर सोशल मीडिया पर जमकर चर्चा हो रही है लेकिन किसी ने नहीं सोचा था कि इस हत्या को कोई हिन्दुओं की आस्था पर चोट करने का हथियार बनाकर इस्तेमाल करेगा।

इसे भी पढ़े: Zaira Wasim gives laboured response to tweet that said Allah sent locusts to India

क्या पूजा भट्ट को पता है कि मुस्लिम-वामपंथी गठजोड़ वाला यह केरल राज्य, जिसमें 300 वर्ष पहले तक 99% हिन्दू निवास करते थे, और जो अब वर्तमान में केरल की कुल 3.50 करोड़ आबादी का 54.7% भाग रह गए हैं, जहाँ 26.6% मुस्लिम और 18.4% ईसाई रहते हैं, उसी केरल के ही मलप्पुरम, जहाँ 70% मुस्लिम निवास करते हैं, वहाँ पर एक गर्भवती हथनी की मौत के पीछे ‘हिन्दुओं की आस्था’ वजह रही हो?

पूजा भट्ट इस निष्कर्ष पर आखिर कैसे पहुँची की उस हाथी की हत्या हिंदुओं ने की? पूजा भट्ट हिंदुओं की आस्था के साथ खिलवाड़ कैसे कर सकती हैं?

इसे भी पढ़े: Hindustani Bhau files FIR against Ekta Kapoor for ‘defaming’ army

पूजा भट्ट ने इस अपराध के लिए एक विशेष समुदाय को ही पहला मुद्दा ठहराने का प्रयास किया है और वह भी ग़लत समुदाय को निशाना बनाते हुए! यदि तमाम सम्भावनाओं को नकार दें और इसमें पचास-पचास प्रतिशत भी दो पंथों (हिन्दू-मुस्लिम) में से किसी एक के भी अपराधी होने को सत्य मान लिया जाए तब भी यही क्यों मान लिया जाए कि यह कार्य उन लोगों ने किया जो गणेश की पूजा करते हैं? यह तथ्य तो स्वयं विरोधाभासी हो जाता है कि जो हिन्दू हाथियों को भी प्रकृति के साथ पूजनीय मानते हैं, वह एक गर्भवती हथनी के साथ इस तरह का कुत्सित प्रयास करेंगे।

पूजा भट्ट यह ट्वीट किया है यदि उसी की गहराई में जाएँ तो पता चलता है कि हाथी और गाय की पूजा करने वाले उनका वध भी नहीं करते, दूसरा यह कि हिन्दुओं के अलावा किसी अन्य मजहब में स्त्रियों, प्रकृति और जानवरों को पूजने का जिक्र शायद ही किया गया हो।

पिछले दिनों केरल में कुछ लोगों ने बस मजे लेने के लिए कुछ ऐसा क्रूर और हिंसक काम किया जिससे एक हथिनी की मौत हो गई और उसके पेट में पल रहा बच्चा भी मर गया। स्थानीय लोगों ने हथिनी को उनलोगों ने पटाखों से भरकर एक अनानास खिला दिया था और जिससे उस हथिनी का मुंह बुरी तरह से जख्मी हो गया और पानी में घंटों खड़े रहकर अपनी मौत का इंतजार करती रही। इस वक्त सोशल मीडिया पर इस घटना को लेकर लोगों में काफई गुस्सा है और बॉलिवुड सिलेब्रटीज़ भी लगातार अपने पोस्ट से इस कुकृत्य की निंदा कर रहे हैं।

केंद्रीय वन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि केरल में हाथी की हत्या पर केंद्र सरकार बहुत गंभीरता से ध्यान दे रही है। हम सही तरीके से जांच करने और अपराधी को पकड़ने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।  पटाखे खिलाकर जानवर को मार देना भारतीय संस्कृति नहीं है।

Sirf News Network

By Sirf News Network

Ref: ABOUT US

Leave a Reply