Categories
India

सरकार प्रधानमंत्री की सुरक्षा को लेकर गंभीर है—राजनाथ

जम्मू— केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने हत्या की माओवादियों की साजिश संबंधी रिपोर्ट के बीच आज कहा कि सरकार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सुरक्षा को लेकर गंभीर है। सिंह ने जम्मू कश्मीर के दो दिवसीय दौरे के बाद यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा,‘‘हम प्रधानमंत्री की सुरक्षा को लेकर हमेशा गंभीर रहे हैं। माओवादी हारने वाली लड़ाई लड़ रहे हैं। वे अब देश में केवल 10 जिलों में ही सक्रिय हैं।’’

पुणे में कल पुलिस ने एक अदालत में बताया था कि प्रतिबंधित भाकपा (माओवादी) के साथ कथित ‘ संबंधों’’ के लिए गिरफ्तार किये गये पांच लोगों में एक व्यक्ति के दिल्ली स्थित आवास से एक ‘‘पत्र’’ बरामद किया गया था। पुलिस ने अदालत को बताया कि इस पत्र में कथित तौर पर कहा गया है कि माओवादी ‘‘राजीव गांधी हत्याकांड जैसी घटना की तरह ही मोदी की हत्या की साजिश रच रहे है।

सिंह ने कहा कि नक्सली हिंसा जल्द ही खत्म हो जायेगी क्योंकि देश में उनके प्रभाव वाले क्षेत्रों की संख्या 135 जिलों से घटकर 90 हो गई है लेकिन वे इनमें से केवल 10 में ही अधिक सक्रिय है। जम्मू कश्मीर में आतंकवादियों के खिलाफ अभियानों में लगी रोक की समयावधि बढ़ाये जाने की संभावना के बारे में उन्होंने कहा कि जमीनी स्थिति की समीक्षा और सभी संबंधित लोगों से विचार – विमर्श करने के बाद ही उचित निर्णय लिया जायेगा।

सिंह ने कहा कि शुरू से ही केन्द्र का रूख यही रहा है कि सरकार हर व्यक्ति से बातचीत की इच्छुक है। उन्होंने कहा,‘‘हमारे पड़ोसी देश पाकिस्तान को अपनी सरजमीं से संचालित आतंकवादी गतिविधियों को रोकना चाहिए।’’ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘निशाना बनाने’ के कथित उल्लेख वाले एक पत्र को लेकर केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने आज कहा कि ‘हताश और निराश’ ताकतें इस तरह की साजिश करती हैं, लेकिन वह परास्त होंगी।

नकवी ने आज कहा, ‘‘मुझे लगता है कि किसी भी सभ्य समाज में हिंसा के लिए कोई स्थान नहीं है। हताश और निराश ताकतें इस तरह के षड्यंत्र करने की कोशिशें करती हैं। लेकिन इस देश के लोगों के आशीर्वाद, समर्थन और मजबूत राष्ट्रवादी इच्छाशक्ति के आगे इस तरह की ताकतें हमेशा परास्त होंगी। उन्होंने कहा, ‘‘ऐसी साजिश करने वालों को यह पता होना चाहिए कि इस देश में हिंदू, मुस्लिम, सिख और ईसाई सभी समुदायों लोग मिलकर राष्ट्रवाद का झंडा बुलंद करते हैं। उनकी साजिश सफल नहीं होगी।’’

गौरतलब है कि माओवादियों के साथ कथित ‘‘संबंधों’’ के आरोप में गिरफ्तार एक व्यक्ति के घर से मिले एक पत्र में कहा गया है कि माओवादी ‘‘राजीव गांधी हत्याकांड जैसी घटना’’ (को अंजाम देने) पर विचार कर रहे हैं। इसमें सुझाव दिया गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उनके ‘‘रोड शो’’ के दौरान निशाना बनाया जाए। पुलिस के अनुसार यह पत्र ‘आर’ नामक व्यक्ति ने किसी कॉमरेड प्रकाश को पत्र भेजा है। इसमें एम-4 रायफल खरीदने के लिए आठ करोड़ रुपये तथा ही घटना को अंजाम देने के लिए चार लाख राउंड गोला-बारूद की जरूरत पड़ने की बात की गयी है।

Sirf News Network

By Sirf News Network

Ref: ABOUT US

Leave a Reply