Categories
Crime

नित्यानंद ने द्वीप ख़रीदा, किया नए ‘देश’ का निर्माण

हालांकि उनसे जुड़े पूर्व शिष्य आज उनकी पोल खोलने में व्यस्त हैं, साथ ही नित्यानंद अपने पीछे एक ट्रोल सेना छोड़ गए हैं जो उनके ख़िलाफ़ लिखे हर शब्द को सोशल मीडिया में चुनौती देते हैं

हाल ही में भारत छोड़कर भागे हुए स्वयंभू धर्मगुरु नित्यानंद अब इक्वाडोर में एक निजी द्वीप खरीदने के बाद उस स्थान को एक नया देश बता रहे हैं — भले ही कोई भी अंतरराष्ट्रीय संस्था उस कथित देश को मान्यता न दे। उन्होंने द्वीप का नाम रखा है ‘कैलाश’। इस द्वीप-राष्ट्र के लिए ध्वज, पासपोर्ट और प्रतीक को पहले ही डिजाइन कर लिया गया था।

सिर्फ़ यही नहीं, नित्यानंद ने अपने एक शिष्य को अपने देश का प्रधानमंत्री घोषित कर उसकी अध्यक्षता में एक कैबिनेट भी नियुक्त किया है। त्रिनिदाद और टोबैगो के क़रीब स्थित इस द्वीप को कथित तौर पर हिंदू संप्रभु राष्ट्र घोषित किया गया है।

यह ‘नया राष्ट्र’ एक मंदिर पर आधारित पारिस्थितिकी तंत्र प्रदान करता है, तीसरी आंख के पीछे का कथित विज्ञान बताता है और योग, ध्यान और गुरुकुल शिक्षा प्रणाली, सार्वभौमिक मुफ्त स्वास्थ्य देखभाल, मुफ्त शिक्षा और सभी के लिए मुफ्त भोजन प्रदान करता है। यह जानकारी पुख्ता नहीं बल्कि नित्यानंद की वेबसाइट पर किया गया दावा है। साइट में स्वयंभू गुरु दान मांग रहे हैं और दुनिया भर के लोगों को अपने ‘राष्ट्र’ का नागरिक बनने के लिए आमंत्रित कर रहे हैं।

तमिलनाडु के रहने वाले नित्यानंद ने 2010 में उस समय सुर्खियां बटोरीं थीं जब एक अभिनेत्री के साथ छेड़छाड़ की घटना सामने आई थी। बाद में नित्यानंद पर बलात्कार का आरोप लगाया गया और उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

कर्नाटक में उनके खिलाफ बलात्कार का मामला दर्ज होने के बाद हाल ही में नित्यानंद भारत से भाग खड़े हुए। हालांकि उनसे जुड़े पूर्व शिष्य आज उनकी पोल खोलने में व्यस्त हैं, साथ ही नित्यानंद अपने पीछे एक ट्रोल सेना छोड़ गए हैं जो उनके ख़िलाफ़ लिखे हर शब्द को सोशल मीडिया में चुनौती देते हैं।

उधर गुजरात में पुलिस हाल ही में एक अपहरण के मुआमले में नित्यानंद के दो शिष्यों को रिमांड में लेने के बाद उनके ख़िलाफ़ ठोस सबूत जुटाने में लगी है। इस विवादास्पद गुरु के विरुद्ध अपहरण, बच्चों को ग़लत तरीक़े से क़ैद करने और राज्य में आश्रम चलाने के लिए अनुयायियों से चंदा इकट्ठा करने के आरोपों के तहत एक प्राथमिकी दर्ज की गई है जिसपर पुलिस की जाँच जारी है।

सिर्फ़ न्यूज़ में छपी नित्यानंद से सम्बंधित पिछली खबर सही साबित हुई, जहाँ पाठकों को यह जानकारी दी गई थी कि ये स्वयंभू गुरु त्रिनिदाद व टोबागो के आस-पास हैं।

Sirf News Network

By Sirf News Network

Ref: ABOUT US

Leave a Reply