Categories
India

सीपीएम की 22वीं पार्टी कांग्रेस में छाए रहे भाजपा और संघ

नई दिल्ली/हैदराबाद —कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (मार्क्सवादी) (सीपीएम) की 22वीं पार्टी कांग्रेस में पूरे वक्त भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर ही चर्चा होती रही। पार्टी नेतृत्व ने खुलेआम मंच से स्वीकारा कि सभी वामपंथी दलों का उद्देश्य अब केवल और केवल बीजेपी और आरएसएस के बढ़ते प्रभाव को रोकना है। इस 22वीं पार्टी कांग्रेस में ही बीजेपी, आरएसएस को लेकर किताब का विमोचन हुआ। 22वीं पार्टी कांग्रेस में अधिकांश मुद्दों की पृष्ठभूमि केवल और केवल बीजेपी और संघ रहा। सीपीएम की पार्टी कांग्रेस हर तीन साल में होने वाला महाअधिवेशन होता है, जिसमें पार्टी संगठन और दशा-दिशा को लेकर महत्वपूर्ण फैसले लिए जाते हैं। जैसे इस 22वीं पार्टी कांग्रेस में सीताराम येचुरी को फिर से पोलित ब्यूरो का महासचिव नियुक्त करना, 95 सदस्यीय केंद्रीय समिति का गठन, 17 सदस्यीय पोलित ब्यूरो का चुनाव जैसे अहम् फैसले लिए गए।

सीपीएम की इस 22वीं पार्टी कांग्रेस का एजेंडा बीजेपी को हराना, हिदुत्ववादी ताकतों को हाशिए पर लाना, पीएम नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार की आर्थिक नीतियों का विरोध करना तक ही सिमट कर रह गया। इसके अलावा अधिवेशन में उच्च शिक्षा में मोदी सरकार द्वारा बदलाव किए जाने का विरोध करना, कठुआ-उन्नाव जैसी घटनाओं के लिए मौजूदा केंद्र सरकार को कटघरे में खड़े करना, रोहित वेमुला की मौत की जांच के लिए मांग करते रहना, केरल में वामपंथी कार्यकर्ताओं पर आरएसएस स्वयंसेवकों द्वारा अत्याचार का विरोध करना जैसे मुद्दों पर चर्चा हुई।

कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (मार्क्सवादी) (सीपीएम) की 22वीं पार्टी कांग्रेस में चर्चा हुई कि त्रिपुरा जैसे उत्तर-पूर्व के राज्य में वामपंथी दलों की बीजेपी के हाथों करारी हार पार्टी के लिए एक करारा झटका है। सीपीएम सहित तमाम वामपंथी दलों ने कभी नहीं सोचा था कि वो त्रिपुरा जैसे राज्य में बीजेपी के हाथों इतनी बुरी तरह से हार जाएंगे, जहां वामपंथी दलों की कई दशकों से सरकार रही है। इतना ही नहीं उत्तर-पूर्व राज्यों में वामपंथी विचारधारा का तेजी से असर कम हो रहा है और आरएसएस का प्रभाव तेजी से फैल रहा है। इतना ही नहीं 22वीं पार्टी कांग्रेस में केरल के वामपंथी नेता पी. विजयन द्वारा लिखी किताब ‘इंडिया वर्सेस आरएसएस’ का विमोचन किया गया।

हिन्दुस्थान समाचार

Sirf News Network

By Sirf News Network

Ref: ABOUT US